Topics



संविधान : समता/समानता का अधिकार (Trick)


जैसा की मैं अपनी पहले पोस्ट की गयी Trick में यह स्पष्ट कर चूका हूँ की भारत के मौलिक अधिकार अमेरिका (9 अलग अलग  देशो से क्या क्या लिया गया है इसकी Trick के लिए यहाँ click करे or http://goo.gl/F2xcnW ) से लिए गए है और इन 6 मूल अधिकार (6 मूल अधिकार अनुच्छेद की Trick के लिए यहाँ click करे or http://goo.gl/vh7r6A ) जिसमे सर्वप्रथम समता या समानता का अधिकार (अनुच्छेद 14 से 18 तक) है के बारे में विस्तार से याद करने के लिए मैने आज दिनांक 10/10/2015 को Trick बनाई है उम्मीद करता हु आपको पसंद आयेगी।
www.allgktrick.com

Made by Singh [10/10/2015]

मौलिक अधिकार : समता या समानता का अधिकार [अनुच्छेद 14 से 18]

Trick-चौविस जाली जन धन योजना के लोन का अवसर आप की उपाधि से समाप्त हुआ।
www.allgktrick.com

NOTE-इस ट्रिक में एक अनुच्छेद-14 के क्रम को व्यक्त किया गया तत्पश्चात क्रमवार आगे के अनुच्छेद 15,16,17,18 होंगे।
www.allgktrick.com

[1]
चौविस=चौ+वि+स
चौ-चौदह अर्थात अनुच्छेद-14(चौ) का विवरण
वि-विधि के
स-समक्ष समता अर्थात
अनुच्छेद 14-विधि के समक्ष समता
Fact : विधि के समक्ष समता का अर्थ यह है कि राज्य सभी व्यक्तियों के लिए एकसमान कानून बनाएगा तथा उन पर एकसमान लागू करेगा।

[2]
जाली जन धन=जा+ली+जन+ध+न
जा-जाति
ली-लिंग
जन-जन्म स्थान
ध-धर्म
न-नस्ल अर्थात
अनुच्छेद 15-जाति, लिंग, जन्म स्थान, धर्म या नस्ल के आधार पर भेदभाव का निषेध
Fact : राज्य के द्वारा जाति, लिंग, जन्म स्थान, धर्म, नस्ल एवं मूलवंश आदि के आधार पर नागरिकों के प्रति जीवन के किसी भी क्षेत्र में भेदभाव नही किया जाएगा।
योजना के-silent
www.allgktrick.com

[3]
लोन का अवसर=लो+न का+अवसर
लो+न का-लोक नियोजन के विषय
अवसर-अवसर की समता अर्थात
अनुच्छेद 16-लोक नियोजन के विषय में अवसर की समता
Fact : राज्य के अधीन किसी पद पर नियोजन या नियुक्ति से सम्बंधित विषयो में सभी नागरिको के लिए अवसर की समानता होगी।
अपवाद-अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़ा वर्ग।

[4]
आप की=आप+की
आप+की-अस्पृश्यता का अंत अर्थात
अनुच्छेद 17-अस्पृश्यता का अंत
Fact : अस्पृश्यता के उन्मूलन के लिए इसे दंडनीय अपराध घोषित किया गया है।

[5]
उपाधि से समाप्त=उपाधि से+समाप्त
उपाधि से-उपाधियों का
समाप्त-अंत (अर्थात समाप्त)
अनुच्छेद 18-उपाधियों का अंत
Fact : सेना या विधा संबंधी सम्मान के सिवाय अन्य कोई भी उपाधि राज्य द्वारा प्रदान नही की जाएगी। भारत का कोई नागरिक किसी अन्य देश से बिना राष्ट्रपति की आज्ञा के कोई उपाधि स्वीकार नही कर सकता।
हुआ-silent
www.allgktrick.com

-By Singh

Comments: Facebook

Comments: Google+

Comments: DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch